खुशखबरी! वैष्णो देवी जाने के लिए शुरू हुई वंदे भारत एक्सप्रेस में बुकिंग, 8 घंटे में कर सकेंगे यात्रा

खुशखबरी! वैष्णो देवी जाने के लिए शुरू हुई वंदे भारत एक्सप्रेस में बुकिंग, 8 घंटे में कर सकेंगे यात्रा

वैष्णो देवी (Vaishno Devi) की यात्रा करने वालों के लिए खुशखबरी है. अब यात्री दिल्ली से कटरा (Delhi-Katra) 12 की जगह सिर्फ 8 घंटों में ही पहुंच जाएंगे. दिल्ली से कटरा जाने के लिए वंदे भारत एक्सप्रेस (Vande Bharat Express) में टिकटों की बुकिंग आईआरसीटीसी (IRCTC) की वेबसाइट पर शुरू हो गई है. गृह मंत्री अमित शाह 3 अक्टूबर को दिल्ली-कटरा (Delhi-Katra Train) वंदे भारत एक्सप्रेस (Vande Bharat Express) को हरी झंडी दिखाएंगे. रेलवे की तरफ से यह जानकारी दी गई है.नई दिल्ली और श्रीमाता वैष्णो देवी कटरा के बीच न्यूनतम किराया 1630 रुपया है और अधिकतम किराया 3015 रुपये है. बता दें कि 22439 नंबर यह ट्रेन सुबह 6 बजे नई दिल्ली (New Delhi) से खुलेगी और दोपहर दो बजे कटरा (Katra) पहुंच जाएगी. वहीं, 22440 यानी कटरा से यह ट्रेन दोपहर 3 बजे खुलेगी और रात 11 बजे दिल्ली पहुंच जाएगी. ट्रेन में चेयरकार (CC) की कीमत 1620 रुपये और एग्जीक्यूटिव क्लास (EC) क्लास की टिकट 3015 रुपये की है.कटरा से वापसी में यह ट्रेन दोपहर बाद 3 बजे चलेगी और रात 11 बजे नई दिल्ली पहुंचेगी. नई दिल्ली से कटरा के बीच यह ट्रेन अंबाला कैंट, लुधियाना और जम्मूतवी में भी रुकेगी. इस ट्रेन से सफर करने वाले यात्रियों को कटरा पहुंचने में चार घंटे कम समय लगेगा. अभी दिल्ली से कटरा पहुंचने में 11 से 12 घंटे का समय लग जाता है.

वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन की टाइमिंग और किराया
(1) वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन का रुट और टाइम टेबल- नई दिल्ली से सुबह 6 बजे चलेगी और दोपहर 2 बजे श्रीमाता वैष्णो देवी कटरा स्टेशन पहुंचेगी. कटरा से वापसी में यह ट्रेन दोपहर बाद 3 बजे चलेगी और रात 11 बजे नई दिल्ली पहुंचेगी. नई दिल्ली से कटरा के बीच यह ट्रेन अंबाला कैंट, लुधियाना और जम्मूतवी में भी रुकेगी. इस ट्रेन से सफर करने वाले यात्रियों को कटरा पहुंचने में चार घंटे कम समय लगेगा. अभी दिल्ली से कटरा पहुंचने में 11 से 12 घंटे का समय लग जाता है.
क्या है ट्रेन में खास
वंदे भारत एक्सप्रेस की भारत की पहली सेमी बुलेट ट्रेन के तौर पर जानी जाती हैष ट्रेन की रफ्तार से लेकर उसके फीचर्स की वजह से न केवल देश बल्कि दुनिया भर में इस ट्रेन ने लोगों का ध्यान आकर्षित किया है। ट्रेन में कई नए फीचर्स शामिल किेए गए हैं। ट्रेन कोच की टेबल और सिटिंग में बदलाव किए गए हैं। वहीं पैंट्री कार में में फ्रीजर-बॉटल कूलर्स को बेहतर बनाया गया है। दे भारत को ट्रेन 18 के नाम से भी जाना जाता है। इसे चेन्नै की इंटिग्रल कोच फैक्ट्री में 100 करोड़ रु. की लागत से 18 महीने में तैयार कर लिया गया।

791total visits,1visits today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *