By | May 25, 2020

कोरोना वायरस क्या शाकाहारी लोगों को शिकार नहीं बनाता? कितना सच हैं यह बात जानते है …

दुनियाभर में कोरोना वायरस महामारी का कहर जारी है. साथ ही झूठी और गुमराह करने वाली स्वास्थ्य सलाह भी व्यापक रूप से ऑनलाइन फैल रही हैं.हमने इनमें से कुछ सबसे हालिया उदाहरण लिए हैं और यह जाना है कि ये कहां से पैदा हुई हैं.वे डॉक्टर जिन्होंने शाकाहारी बनने की सिफ़ारिश नहीं की अक्सर ऐसे संदेश साझा होते हैं जिनमें आमतौर पर ठीक सलाह होती है, लेकिन इनमें अतिरिक्त दावे भी मिले होते हैं जो साफतौर पर गुमराह करने वाले होते हैं और ये नुकसानदेह भी हो सकते हैं.चूंकि, ये बार-बार एनक्रिप्टेड सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर साझा किए जाते हैं ऐसे में इन्हें ट्रैक करना मुश्किल हो सकता है.दावे को सही साबित करने के लिए कोई सबूत नहीं है कि शाकाहारी लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण होने का खतरा नहीं है।भारत के दो प्रमुख मेडिकल संस्थानों और एक प्रमुख भारतीय डॉक्टर ने व्हॉट्सएप ग्रुप्स पर बड़े पैमाने पर साझा किए गए एक ऐसे फर्जी संदेश की आलोचना की है जिसमें उनके नाम पर स्वास्थ्य सलाह दी गई है। इस संदेश में वायरस से बचने के लिए ली जाने वाली सावधानियों की एक लंबी सूची दी गई है। इनमें सामाजिक दूरी का पालन करने, भीड़भाड़ से बचने और साफ-सफाई रखने जैसी कई काम की चीजें शामिल हैं। लेकिन, इसमें शाकाहारी बनने की भी सलाह दी गई है। इसमें बेल्ट, अंगूठी या कलाई घड़ी पहनने से भी बचने की बात कही गई है। इनमें से किसी भी उपाय से वायरस से बचने में मदद मिलने का कोई प्रमाण नहीं है। कोविड-19 को लेकर डब्ल्यूएचओ की पोषण संबंधी सलाह में प्रोटीन के साथ फल और सब्जियां लेने की बात कही गई है।

Total Page Visits: 791 - Today Page Visits: 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *