अरुण जेटली के परिवार ने पेंशन लेने से मना कार दिया, बताई ये वजह

अरुण जेटली के परिवार ने पेंशन लेने से मना कार दिया, बताई ये वजह

पूर्व वित्त मंत्री और बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता अरुण जेटली  का 24 अगस्त को दिल्‍ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया था. जेटली काफी समय से एक के बाद एक बीमारी से लड़ रहे थे. अरुण जेटली के परिवार ने उन्हें मिलने वाली पेंशन को लेने से मना कर दिया है। इसके लिए उनकी पत्नी ने राज्यसभा के उपसभापति एम वेंकैया नायडू को एक पत्र लिखा है। जिसमें उनका कहना है कि भाजपा नेता को मिलने वाली पेंशन उन कर्मचारियों को दान कर दी जाए जिनकी तनख्वाह कम है। परिवार को पेंशन के तौर पर लगभग तीन लाख रुपये मिलते।अरुण जेटली के परिवार ने उन्हें मिलने वाली पेंशन को लेने से मना कर दिया है। इसके लिए उनकी पत्नी ने राज्यसभा के उपसभापति एम वेंकैया नायडू को एक पत्र लिखा है। परिवार को पेंशन के तौर पर लगभग तीन लाख रुपये मिलते।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उनकी करीबियाँ किसी से छिपी नहीं थी। उनके जाने के बाद प्रधानमंत्री ने सबके सामने भरे मन से उन्हें अपना अमूल्य मित्र बताया था। जेटली एक ऐसे नेता थे, जिनके पक्ष और विपक्ष दोनों में मित्र थे। जिसके कारण ही उनकी पत्नी ने वैंकया नायडू को लिखे पत्र में लिखा, “अरुण हमेशा से एक परोपकारी रहे हैं। अपने कानूनी पेशे या राजनीति में उन्होंने जो भी सफलता हासिल की उनका मानना था कि यह उन्हें गुरु, सहयोगियों के समर्थन और दोस्तों, रिश्तेदारों की शुभकामनाओं के कारण मिली है। वह हमेशा जरुरत के समय हर किसी की मदद के लिए खड़े रहे।”

1627total visits,2visits today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *