धारा-370 हटने पर दिल्ली में कश्मीरी पंडितों ने जमकर मनाया जश्न बताया इसे वापसी का पहला कदम ,बोले-मोदी और शाह जी का धन्यवाद

धारा-370 हटने पर दिल्ली में कश्मीरी पंडितों ने जमकर मनाया जश्न बताया इसे वापसी का पहला कदम ,बोले-मोदी और शाह जी का धन्यवाद

जम्मू-कश्मीर से संविधान की धारा 370 हटाए जाने का कश्मीर से बाहर रह रहे कश्मीरी पंडितों ने स्वागत किया है। इंडिया टीवी से बात करते हुए कश्मीरी पंडितों ने बताया कि जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाया जाना उनके लिए कश्मीर में वापसी का पहला कदम है। 1990 में कश्मीरी पंडितों को  कश्मीर में अपने घर छोड़ने के लिए मजबूर कर दिया गया था, तब से लेकर अबतक लाखों कश्मीरी पंडित अपने घरों से दूर रह रहे हैं।

धारा-370 हटाने को लेकर शिवसेना ने मोदी सरकार का समर्थन किया है। शिवसेना के सांसद संजय राउत ने कहा- 1947 में नहीं आज जम्मू कश्मीर का विलय हो गया। धारा-370 भारत पर कलंक थी आज मोदी सरकार उसे हटाकर कलंक हटा दिया है। धमकियां मिल रही थी कि जो 370 को हाथ लगाएगा वो जला दिया जाएगा, अब जलाइए। अमित शाह भी यहींं है और मोदी भी यही हैं। राज्यसभा में अमित शाह ने कहाकि धारा-370 पिछले 70 सालों से कश्मीर का नुकसान का रही थी। इसे हटाने में देरी नहीं करनी चाहिए थी। गृह मंत्री ने कहा कि वोट बैंक की वजह से विगत दिनों में इस पर कोई फैसला नहीं लिया गया, लेकिन हमारे पास इच्छा शक्ति है और हम वोट बैंक की परवाह नहीं करते हैं। अमित शाह की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि लद्दाख के लोगों की लंबे समय से मांग रही है कि लद्दाख को केंद्र शासित राज्य का दर्ज दिया जाए, ताकि यहां रहने वाले लोग अपने लक्ष्यों को हासिल कर सकें। रिपोर्ट के मुताबिक जम्मू-कश्मीर को अलग से केंद्र शासित प्रदेश का दर्जा दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *