रानीताल मर्डर केस: सेना के जवान ने पत्नी से नाजायज संबंधों के कारण की थी टैक्‍सी चालक की हत्‍या,

रानीताल मर्डर केस: सेना के जवान ने पत्नी से नाजायज संबंधों के कारण की थी टैक्‍सी चालक की हत्‍या,

रानीताल में हुए बैजनाथ के टैक्‍सी ड्राइवर मर्डर केस की गुत्‍थी सुलझ गई है। पुलिस ने हत्‍या के आरोप में सेना के जवान को गिरफ़तार कर लिया है। मृतक अश्वनी कुमार की टैक्सी अलहीलाल में आर्मी क्वार्टर के पास खड़ी बरामद की थी। इसके बाद पुलिस हत्‍या के आरोपित तक पहुंची। फील्ड रैजीमेंट अलहिलाल से 28 वर्षीय हनुमंत पुत्र ओम प्रकाश गांव जामाबाडी़ डाकघर हांसी जिला हिसार हरियाणा को पकड़ा है। बताया जा रहा है अारोपित ने पूछताछ के दौरान गुनाह कबूल कर लिया है। आरोपित की निशानदेही पर पुलिस ने गाड़ी की बरामदगी स्थल से दो किलोमीटर दूर एक लाइसेंसी रिवॉल्‍वर व 11 जीवित रौंद भी बरामद किए हैं। आरोपित से अभी तक लाइसेंस की बरामदगी नहीं हुई है।
आरोपी ने पुलिस के सामने गुनाह कबूला                                                                                                                                                                                                                                                                                          पुलिस ने हनुमंत को हरियाणा के हिसार जिले से पकड़ा है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार आरोपी ने पूछताछ के दौरान गुनाह कबूल कर लिया है. आरोपी जवान से अभी तक रिवॉल्वर के लाइसेंस की कॉपी की बरामद नहीं हुई है. आरोपी जवान ने पूछताछ के दौरान बताया कि टैक्‍सी ड्राइवर अश्विनी कुमार का उसकी पत्‍नी के साथ नाजायज संबंध थे. आरोपी ने बताया कि एक दिन वह कहीं बाहर गया था और वह जब अपने क्वार्टर लौट रहा था तब उसने अश्विनी कुमार को अपने क्वार्टर में घुसते हुए देखा. उस समय कमरे में सिर्फ उसकी पत्‍नी थी. दोनों एक घंटे तक अंदर रहे और वह बाहर से छुपकर सब देखता रहा. अश्विनी कुमार के कमरे से जाने के बाद जब वह अंदर गया तो उसने पत्‍नी से इस बारे में कोई बात नहीं की. टैक्सी ड्राइवर को मारने का प्लान बना लिया।उसने टैक्‍सी चालक (Taxi driver) के बारे में जानकारी जुटाई और 22 सितंबर को चौबीन चौक से किसी अन्य व्यक्ति के मोबाइल से उसे फोन कर टैक्‍सी बुक करवाई। इस दौरान वह पहले चामुंडा व इसके आसपास के इलाके में घूमा, लेकिन वहां उसे मारने का अवसर प्राप्त न हुआ। इसके बाद वे रानीताल की तरफ रवाना हुए और दोपहर 3 बजे रास्ते में एक सुनसान जगह देखकर उसने अश्वनी कुमार को गाड़ी रोककर फोटो लेने को कहा। अश्वनी कुमार डंगे के नीचे उतरकर फोटो लेने लगा तब आरोपी ने उस पर गोलियां बरसा दीं।

1604total visits,3visits today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *