By | October 8, 2020

आज भारतीय वायुसेना का 88वां स्थापना दिवस, क्या आप जानते है वायुसेना की रोचक जानकारियां,

भारतीय वायुसेना आज अपनी 88वीं वर्षगांठ का जश्न मना रही है. इस मौके पर आज हिंडन एयरबेस पर वायुसेना के विमान अपनी ताकत और क्षमता का प्रदर्शन करेंगे.  भारतीय वायुसेना भारतीय सशस्त्र सेना का एक अंग है जो वायु युद्ध, वायु सुरक्षा, एवं वायु चौकसी का महत्वपूर्ण काम देश के लिए करती है। इसकी स्थापना 8 अक्टूबर 1932 को की गयी थी। आजादी से पूर्व इसे रॉयल इंडियन एयरफोर्स के नाम से जाना जाता था आठ अक्‍टूबर 1932 को स्‍थापना जब वो बदलाव के एक बड़े दौर से गुजर रही है. राफेल जैसे लड़ाकू विमान हाल ही में वायुसेना के बेड़े में शामिल हुए हैं. इस बार एयरफोर्स डे फ्लाइ पास्ट में कुल 56 एयरक्राफ्ट उड़ान भरेंगे. पिछले साल ये संख्या 51 थी. राफेल को लेकर एयरचीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया का कहना है कि राफेल लड़ाकू विमान के आगे से हमें काफी बढ़त मिलेगी, इससे हमें ये भी फायदा होगा कि हम तेजी से कार्रवाई कर पाएंगे. साथ ही ये कार्रवाई ऐसी होगी जो मजबूत होगी.

इंडियन एयर फोर्स एक्‍ट 1932 के तहत इसे रॉयल एयर फोर्स के साथ जोड़ा गया था। यहां से रॉयल एयर फोर्स की यूनिफॉर्म और बाकी चीजों को अपनाया।वर्ष 1932 में अस्तित्‍व में आने के बाद एक अप्रैल 1933 को आईएएफ की पहली स्‍क्‍वाड्रन नंबर वन तैयार हुई। इस स्‍क्‍वाड्रन में चार बायप्‍लेन और सिर्फ पांच पायलट्स थे। उस समय आईएएफ के पायलट्स को रॉयल एयरफोर्स के कमांडिंग ऑफिसर फ्लाइट लेफ्टिनेंट सेसिल बाशियर लीड कर रहे थे।Indian Air Force को एक साथ दो देशों के साथ मौर्चा खोलने की क्षमता रखने वाले बयान से Indian Air Force की ताकत का अंदाजा लगाया जा सकता है. Air Force Facts & Information में आपकों कुछ ऐसे तथ्यों और जानकारी से अवगत करावाएगे, जो देश के हर नागरिक को पता होनी चाहिए.

इस बार जो एयरक्राफ्ट एयर फोर्स डे फ्लाइ पास्ट में हिस्सा लेंगे…

•    Su30-MKI
•    मिग 29
•    जगुआर
•    चिनूक
•    19 लड़ाकू विमान
•    19 हेलिकॉप्टर
•    7 ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट
•    9 सूर्यकिरण
•    2 पुराने एयरक्राफ्ट – डकोता, टाइगर
•    दो राफेल लड़ाकू विमान – उड़ान एक ही भरेगा
•    5 अपाचे हेलिकॉप्टर
•    ALH रूद्र (आर्म वर्जन)

दूसरे विश्‍व युद्ध के दौरान भारतीय वायुसेना को रॉयल एयरफोर्स ऑफ ब्रिटेन के नाम से जाना जाता था, जब उन्‍होंने बर्मा में जापानी फौज के कदम रोक दिए थे. इंडियन एयर फोर्स के बारे में ऐसी ही और बातें जानते हैं…

भारतीय वायुसेना की रोचक जानकारियां

1.भारतीय वायुसेना दुनिया की चौथी सबसे अच्‍छी ऑपरेशनल एयरफोर्स मानी जाती है, जो हर साल 2,40,000 के फ्लाइंग आवर्स निकालती है.
2.भारतीय वायुसेना में 1,50,840 कर्मचारी हैं. जबकि 1,467 विमान अभी सेवा में हैं.
3.भारतीय वायुसेना के पास 616 लड़ाकू विमान, 359 हेलीकॉप्‍टर, 33 अटैक हेलीकॉप्‍टर और 182 ट्रेन एयरक्राफ्ट है.
4.भारतीय वायुसेना का एक एयरबेस तजाकिस्तान में स्थित है।ताजिकिस्तान में स्थित फर्कोर एयर बेस देश के बाहर भारत का पहला और एकमात्र मिलिट्री बेस है।इसकी देखरेख भारतीय वायुसेना तथा तजाकिस्तान वायुसेना दोनों के सहयोग से होता है।
5.भारतीय वायुसेना के नाम एक विश्व रिकॉर्ड भी दर्ज है। अपने ‘राहत’ अभियान के दौरान उत्तराखंड में आयी त्रासदी में भारतीय वायुसेना ने 20,000 नागरिकों का जान बचाकर अपने नाम एक विश्व रिकॉर्ड दर्ज किया।
6.1380 एयरक्राफ्ट बेड़े के साथ भारतीय वायुसेना संयुक्त राज्य अमेरिका,रूस एवं चीन के बाद विश्व में चौथे स्थान पर है। अमेरिका, चीन, जापान और रूस ही भारत से आगे हैं।
7.क्‍या आप जानते हैं कि जब वर्ष 1971 में भारत और पाकिस्‍तान के बीच युद्ध हुआ था तो उस समय वायुसेना के पास रात में लड़ाई कर सकने वाले एयरक्राफ्ट्स तक नहीं थे। आज वायुसेना की ताकत के बारे में दुश्‍मन सोचता है तो उसे भी बुरे सपने आने लगते हैं

8.फ्लाइंग ऑफिसर निर्मलजीत सिंह सेखो परमवीर चक्र से सम्मानित किए जा चुके है।उन्हें 1971 के भारत-पाक युद्ध में अपने अदम्य साहस के लिए यह चक्र मिला है।वे भारतीय वायुसेना से एकमात्र परमवीर चक्र प्राप्तकर्ता है।राफेल विमान भरेंगे उड़ान (फोटो- PTI)

दोस्तों उम्मीद करते है Indian Air Force Facts & Information In Hindi Language के इस लेख में दी गई जानकारी पसंद आई होगी. Indian Air Force In Hindi से जुड़ा आपका कोई सवाल या सुझाव हो तो कमेंट कर जरुर पूछे. साथ ही इस लेख को अपने दोस्तों के साथ सोशल मिडिया पर जरुर शेयर करे.

Total Page Visits: 701 - Today Page Visits: 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *