By | May 25, 2021

राजस्थानी पहाड़ियों के बीच एक प्राचीन हिंदू तीर्थ स्थल  गलता जी मंदिर ..

राजस्थान की राजधानी Jaipur अपनी खूबसूरती के लिए ही नहीं बल्कि यहां मिलने वाली अद्भूत चीजों के लिए भी मशहूर है। जयपुर से लगभग 10 किमी दूरी पर अरावली की पहाडिय़ों में स्थित गलता धाम ( गलता जी मंदिर) अपने प्रचीन मंदिर और कुंड के लिए तो प्रसिद्ध है ही साथ ही यहां मिलने वाली अद्भुत जड़ी-बूटियों ( Herbs ) के लिए भी लोगों के बीच चर्चा का विषय है। गलताजी मंदिर का विवरण अरावली की पहाड़ियों पर गलताजी मंदिर काफी ऊंचाई पर स्थित है और यहां से आपको पूरे जयपुर शहर का खूबसूरत नज़ारा देखने को मिलेगा। 16वीं शताब्दी से ये स्थाून हिंदुओं का प्रमुख तीर्थस्थल बना हुआ है।

यहां की पहाडिय़ों से बरसता है शिलाजीत, लेने के लिए उमड़ पड़ते हैं लोगइसे दीवान राव कृपापरम द्वारा बनवाया गया था जोकि राजपूत शासक सवाई जय सिंह के सलाहकार थे। यह भी बताया जाता है कि संत गालव ने तपस्या करते हुए सौ साल तक इस पवित्र स्थान पर सारा जीवन बिताया। उसकी भक्ति से प्रसन्न होकर भगवान उसके सामने प्रकट हुए और अपने पवित्र स्थान को पवित्र जल से आशीर्वाद दिया। बता दें कि इस संत या ऋषि की वंदना करने के लिए, गलताजी मंदिर का निर्माण किया गया था और उसके नाम पर इस मंदिर का नाम रखा गया। ऐस भी बताया जाता है कि इस जगह पर तुलसीदास द्वारा पवित्र रामचरित्र मानस के खंड लिखे गए थे। मंदिर का प्राकृतिक झरना इस मंदिर का सबसे बड़ा आकर्षण है मंदिर में प्राकृतिक रूप से बहता हुआ झरना। ये पवित्र झरना ऊंचे पर्वत से बहता हुआ मंदिर में आकर गिरता है। इसका पानी सात विभिन्न कुंड और तालाबों में गिरता है एवं इनमें से एक गलता कुंड को सबसे अधिक पवित्र और महत्वलपूर्ण माना जाता है क्यों कि इस कुंड का पानी कभी सूखता नहीं है। इन कुंड और तालाबों में तीर्थयात्री और श्रद्धालु दर्शन करने से पूर्व स्नान भी करते हैं। गलताजी मंदिर राजस्थान का एक बहुत ही आकर्षक मंदिर है, जिसमें आश्चर्यजनक वास्तुकला है जो पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती है। अगर आप इस मंदिर के दर्शन करने जा रहे हैं तो इसके साथ ही आप मंदिर के दर्शनीय स्थलों की यात्रा भी कर सकते हैं। मंदिर के पास का प्रमुख दर्शनीय स्थल गलवार बाग गेट हैं जो गुलाबी रंग में एक बहुत ही अद्भुत संरचना है और गलता मंदिर परिसर में एक मुख्य मंदिर है। यहां का हनुमान मंदिर भी बेहद खास है जो अपनी अपनी वास्तुकला के लिए और यहां पाए जाने वाले बंदरों के लिए भी जाना जा सकता है। अगर आप इस जगह की यात्रा करने आ रहे हैं तो आपको हनुमान मंदिर का दौरा भी जरुर करना चाहिए।मंदिर का प्राकृतिक झरना

कैसे पहुंचे गलताजी मंदिर
अगर आप गलताजी मंदिर के लिए ट्रेन से यात्रा करना चाहते हैं तो आपको बता दें कि इसका निकटतम रेलवे स्टेशन बैस गोडाम रेलवे स्टेशन जंक्शन है जो मंदिर से सिर्फ 1 किमी दूर स्थित है। मंदिर के दर्शन करने के लिए आप से टैक्सी या ऑटो-रिक्शा से जा सकते हैं।
अगर आप सड़क मार्ग से जयपुर की यात्रा करना चाहते हैं तो बता दें कि इस शहर कई डीलक्स और राज्य दोनों तरह की बसें भारत के विभिन्न शहरों से उपलब्ध हैं। जयपुर से निजी टैक्सी बुक करना और शहर की यात्रा करना सबसे अच्छा विकल्प है
हवाई जहाज से यात्रा करने की योजना बना रहे हैं तो बता दें कि गलताजी मंदिर के पास का हवाई अड्डा सांगानेर हवाई अड्डा, जयपुर है जो गलताजी मंदिर से 10 किमी की दूरी पर स्थित है

Total Page Visits: 1520 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *