By | February 15, 2020

दो माह से धरने पर बैठी शाहीनबाग की महिलाएं अमित शाह से करेगी मुलाक़ात

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून, एनपीआर और एनआरसी के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग में मुस्लिम महिलाएं 15 दिसंबर से धरने पर बैठी हैं। इन महिलाओं की मांग है कि मोदी सरकार नागरिकता संशोधन कानून को वापस ले और आश्वासन दे कि एनआरसी कभी नहीं आएगा। प्रदर्शनकारी महिलाएं पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह से शाहीन बाग आने की और उनसे बात करने की अपील कर चुकी हैं। शाहीन बाग की प्रदर्शनकारी महिलाओं ने कहा कि उनका कोई प्रतिनिधिमंडल नहीं है दरअसल, दिल्ली के शाहीन बाग में हो रहे प्रदर्शन को लगभग दो महीने का समय बीत चुका है। इन प्रदर्शनकारियों की बजह से प्रभावित होते यातायात के चलते इन्हें हटाने वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई की। कोर्ट ने कहा कि दिल्ली के शाहीनबाग में सीएए का विरोध कर रहे  लोग सार्वजनिक मार्ग अवरुद्ध कर दूसरों के लिए असुविधा पैदा नहीं कर सकते।शाहीन बाग में रास्ता खाली कराने को लेकर सुप्रीम कोर्ट में 17 फरवरी को सुनवाई है। इस सुनवाई के पहले ही प्रदर्शनकारी बीच का रास्ता तलाश रहे हैं। रास्ता खाली करने के पक्ष में फैसला आने की स्थिति में वे आगे की रणनीति पर विचार कर रहे हैं। पुलिस भी कोर्ट के रुख पर ही नजर लगाए है।

 

Total Page Visits: 435 - Today Page Visits: 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *